नागपुर के सांस्कृतिक केंद्र का वीडियो अयोध्या में राम मंदिर का अंदरूनी दृश्य बताकर वायरल

लेखक: मोहम्मद सलमान
सितंबर 20 2023

शेयर आर्टिकल: facebook logo twitter logo linkedin logo
नागपुर के सांस्कृतिक केंद्र का वीडियो अयोध्या में राम मंदिर का अंदरूनी दृश्य बताकर वायरल

वीडियो राम मंदिर के अंदरूनी दृश्य के दावे से एक वीडियो वायरल हो रहा है. (सोर्स: एक्स, फ़ेसबुक/ स्क्रीनशॉट)

फैक्ट चैक

निर्णय असत्य

यह वीडियो नागपुर के भारतीय विद्या भवन सांस्कृतिक केंद्र के पहले तल पर मौजूद “रामायण दर्शनम हॉल” का है, नाकि अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर का.

क्लेम आईडी bdc3ed0a

दावा क्या है? 

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण ज़ोरोशोरों से चल रहा है. उम्मीद जताई जा रही है अगले साल लोकसभा चुनाव से पहले जनवरी महीने में राम मंदिर का उद्घाटन कर दिया जायेगा. अक्सर इसके निर्माण के दृश्य सोशल मीडिया पर शेयर किये जाते रहते हैं. इस बीच, एक वीडियो निर्माणाधीन राम मंदिर के अंदरूनी दृश्य के दावे से एक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में एक इमारत का अंदर का भव्य दृश्य दिखाया गया है, जिसमें हिन्दू देवी-देवताओं के चित्र, नक्काशी वाली सुनहरी दीवारें और बड़े-बड़े झूमर दिखाई दे रहे हैं.

एक्स (पूर्व में ट्विटर) और फ़ेसबुक यूज़र्स इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा कर रहे हैं कि यह अयोध्या के राम मंदिर का अंदर का दृश्य है. एक यूज़र ने एक्स पर वीडियो पोस्ट करते हुए कैप्शन दिया, “श्रीराम मंदिर अयोध्या के अंदर के दृश्य- अंतिम परिष्करण कार्य-चल रहा है.” इसी दावे के साथ वीडियो को फ़ेसबुक पर भी शेयर किया जा रहा है. (आर्काइव यहां, यहां, यहां, और यहां देखें)

वायरल पोस्ट का स्क्रीनशॉट (फ़ेसबुक/स्क्रीनशॉट)

हालांकि, हमारी जांच में सामने आया कि वायरल हो रहा वीडियो अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर का नहीं, बल्कि महाराष्ट्र के नागपुर में स्थित भारतीय विद्या भवन सांस्कृतिक केंद्र का है.

सच्चाई क्या है? 

वायरल वीडियो को ध्यानपूर्वक देखने पर हमें इसपर Nagpur Experience (नागपुर एक्सपीरियंस) यूट्यूब चैनल लिखा हुआ दिखा. हमने जब इस चैनल को यूट्यूब पर सर्च किया तो पाया कि यहां इस वीडियो को 8 जुलाई, 2023 को बतौर शॉर्ट्स अपलोड किया गया था. वीडियो के शीर्षक के मुताबिक़, यह वीडियो नागपुर के कोराडी मंदिर का है. 

हमने इस चैनल पर हमें कोराडी मंदिर के अन्य वीडियो भी मिले, जो वायरल वीडियो के दृश्य से मेल खाते हैं. 

वायरल वीडियो और यूट्यूब शॉर्ट्स वीडियो के दृश्यों की तुलना (सोर्स: फ़ेसबुक, यूट्यूब/स्क्रीनशॉट)

इसके अलावा, ‘नागपुर स्टाइल व्लॉग़’ नाम के यूट्यूब चैनल पर हूबहू दृश्य दिखाने वाला एक वीडियो मिला, जिसमें पूरे मंदिर प्रांगण से होते हुए अंदर के भव्य दृश्य को दिखाया गया है. इस वीडियो में दी गई जानकारी के मुताबिक़, भारतीय विद्या भवन सांस्कृतिक केंद्र कोराडी स्थित महालक्ष्मी जगदंबा मंदिर परिसर में स्थापित है. इस मंदिर को कोराडी मंदिर भी कहा जाता है. वीडियो में 7:14 मिनट की समयावधि से, अंदर का दृश्य ठीक वैसा ही देखा जा सकता है जो वायरल हो रहे वीडियो में दिखाया गया है. 

वीडियो में एक जगह दिखाया गया है कि श्रीराम और अन्य देवी-देवताओं के चित्रण वाला स्थान “रामायण दर्शनम” कहलाता है.

वायरल वीडियो और यूट्यूब वीडियो के दृश्यों की तुलना (सोर्स: फ़ेसबुक, यूट्यूब/स्क्रीनशॉट)

इस संबंध में, अधिक खोजबीन करने पर हमें कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं. 6 जुलाई, 2023 को प्रकाशित टीवी9 मराठी की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और महाराष्ट्र के राज्यपाल रमेश बैस, उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस की मौजूदगी में नागपुर के करोडी में विद्या भवन सांस्कृतिक केंद्र का उद्घाटन किया. साथ ही, रिपोर्ट में केंद्र के अंदर की कई तस्वीरें भी प्रकाशित की गयी हैं. 

नागपुर के भारतीय विद्या भवन सांस्कृतिक केंद्र की एक तस्वीर (सोर्स: टीवी9/स्क्रीनशॉट)

हमें अपनी जांच के दौरान भारत के राष्ट्रपति के आधिकारिक एक्स अकाउंट से 5 जुलाई, 2023 का एक पोस्ट मिला जिसके कैप्शन में बताया गया है कि राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने नागपुर के कोराडी में भारतीय विद्या भवन के सांस्कृतिक केंद्र का उद्घाटन किया. इस पोस्ट में 4 तस्वीरें शेयर की गईं हैं, जिसमें से एक तस्वीर कई मीडिया रिपोर्ट्स में भी मौजूद है और वायरल वीडियो के एक दृश्य से भी मेल खाती है.

वायरल पोस्ट और भारत के राष्ट्रपति के एक्स पोस्ट की तुलना (सोर्स: फ़ेसबुक, एक्स/स्क्रीनशॉट)

हमने भारतीय विद्या भवन सांस्कृतिक केंद्र की अधिकारिक वेबसाइट को भी चेक किया. वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक़, सांस्कृतिक केंद्र कोराडी मंदिर रोड परिसर में है, जिसके पहले तल पर "रामायण दर्शनम हॉल" है, जो एक प्रदर्शनी परिसर है जहां भगवान राम की पूरी कहानी मनोरम ग्राफिटी और तेल चित्रों के माध्यम से बताई गई है. इस हॉल में श्री राम के जन्म से लेकर उनके राज्याभिषेक तक, रामायण के महत्वपूर्ण प्रसंगों को चित्रित करने वाली 120 शानदार पेंटिंग प्रदर्शित की गई हैं.

जबकि, दूसरे तल पर, "भारत माता सदनम" है, जो स्वतंत्रता सेनानियों और रक्षा कर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करता है. साथ ही 1857 से 1947 तक स्वतंत्रता सेनानियों के वीरतापूर्ण संघर्षों को दर्शाने वाली 115 पेंटिंग हैं. 

जांच के आख़िरी हिस्से में, हमने राम मंदिर के निर्माण से जुड़े दृश्यों को चेक किया तो हमें राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय का 14 सितंबर, 2023 का एक्स पोस्ट मिला, जिसमें गर्भगृह, प्रवेश द्वार, पहले तल पर चल रहे निर्माण और खंभों को दिखाया गया है, और कारीगर छत के ऊपर लगने वाले पत्थरों को तराशते नज़र आ रहे हैं. इस वीडियो को देखकर आसानी से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि राम मंदिर फ़िलहाल निर्माणाधीन है, और वायरल वीडियो राम मंदिर का नहीं है.

अयोध्या राम मंदिर का एक निर्माणाधीन हिस्सा (सोर्स: एक्स/स्क्रीनशॉट)

निर्णय 

हमारी अब तक की जांच से स्पष्ट हो जाता है कि अयोध्या के राम मंदिर के अंदर के दृश्य के रूप में वायरल हो रहा वीडियो असल में नागपुर के भारतीय विद्या भवन सांस्कृतिक केंद्र का है. इसलिए, हम वायरल दावे को ग़लत मानते हैं. 

इस फैक्ट चेक को पढ़ें

অসমীয়া , हिंदी

क्या आप फ़ैक्ट-चेक के लिए कोई दावा प्रस्तुत करना चाहेंगे या हमारी संपादकीय टीम से संपर्क करना चाहेंगे?

0
ग्लोबल फैक्ट चेक पूरा हुआ

हमारे जीवन पर असर डालने वाले फैसलों के लिए हम सूचना पर भरोसा करते हैं, लेकिन इंटरनेट के जरिए ग़लत सूचनाएं इतनी तेजी से लोगों तक पहुंचाई जा रही है जैसा पहले कभी नहीं हुआ था.