टीवी पर धीरेंद्र शास्त्री की कथा सुनते हुए पीएम नरेंद्र मोदी का एडिटेड वीडियो वायरल

लेखक:
अगस्त 25 2023

शेयर आर्टिकल: facebook logo twitter logo linkedin logo
टीवी पर धीरेंद्र शास्त्री की कथा सुनते हुए पीएम नरेंद्र मोदी का एडिटेड वीडियो वायरल

फैक्ट चैक

निर्णय असत्य

असल वीडियो साल 2019 का है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चंद्रयान 2 के लॉन्च को देखते हुए दिखाया गया है.

क्लेम आईडी 44b1f866

संदर्भ

बागेश्वर धाम सरकार के नाम से मशहूर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की टीवी पर कथा सुनते हुए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वीडियो सोशल मीडिया पर बड़े पैमाने पर वायरल हो रहा है.  

 इस वीडियो के साथ दावा किया गया है, “प्रधानमंत्री मोदी श्री धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का वीडियो देख रहे हैं जो बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर हैं. यहां वे माता-पिता के बारे में बोलते हैं. न तो इस धरती पर मां से महान कोई है और न ही कोई होगा.” इस एडिटेड वीडियो को यूट्यूब पर भी व्यापक रूप से शेयर किया गया है.

हालांकि, यह वीडियो एडिटेड है. यह वीडियो 2019 का है जब पीएम मोदी टीवी पर चंद्रयान 2 को लॉन्च होते देख रहे थे.


सच्चाई

हमने गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से वीडियो को खोजना शुरू किया तो यह हमें हिन्दुस्तान टाइम्स के यूट्यूब चैनल पर 22 जुलाई 2019 को अपलोड हुआ मिला. इस वीडियो में दिखाया गया कि पीएम मोदी चंद्रयान 2 का सीधा प्रसारण देख रहे हैं. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने उसी दिन भारत का दूसरा मून मिशन शुरू किया था. आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से इसे लांच किया गया था.

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने भी 22 जुलाई, 2019 को लॉन्च को देखते हुए मोदी का वीडियो अपने आधिकारिक फ़ेसबुक अकाउंट पर शेयर किया था. 

दोनों वीडियो में प्रधानमंत्री के कपड़ों सहित बाकी चीज़ों में कई समानताएं थीं. हम वायरल वीडियो के कई की-फ़्रेमों का मिलान हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो से भी कर सकते हैं. उदाहरण के लिए: लगभग 19 सेकंड पर, पीएम मोदी को मुंह के पास हाथ रखकर स्क्रीन पर करीब से देखते हुए देखा जा सकता है. वायरल वीडियो में भी यही फ्रेम देखा जा सकता है.
हमें पीएम मोदी के निजी अकाउंट पर 2019 का एक ट्वीट भी मिला, जहां उन्होंने लिफ्ट-ऑफ़ देखते हुए अपनी तस्वीरें साझा की थीं.


धीरेंद्र शास्त्री का वीडियो

हमने शास्त्री का वीडियो भी खोजा, जिसे डिजिटल रूप से मोदी की स्क्रीन पर जोड़ा गया है, और पाया कि इसे 22 मई, 2023 को बागेश्वर धाम सरकार के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किया गया था. वायरल वीडियो में नज़र आने वाला दृश्य 5.23 मिनट पर देखा जा सकता है. हमें संस्कार टीवी के यूट्यूब चैनल पर 7 जनवरी 2023 का एक लाइवस्ट्रीम भी मिला. इसके दृश्य लगभग 1:57:23 की समयावधि पर देखे जा सकते हैं.

अब तक की हमारी जांच से स्पष्ट हो जाता है कि स्वयंभू बाबा बागेश्वर धाम सरकारकी कथा को देखते हुए पीएम मोदी का वायरल वीडियो असल में एडिटेड है. 


फ़ैसला

चंद्रयान 2 का सीधा प्रसारण देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वीडियो को एडिट करके  इस दावे से शेयर किया गया कि वह धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री की कथा को देख/सुन रहे हैं. ऐसे में, वायरल दावा ग़लत साबित होता है. 

इस फैक्ट चेक को पढ़ें

English , हिंदी , ಕನ್ನಡ

क्या आप फ़ैक्ट-चेक के लिए कोई दावा प्रस्तुत करना चाहेंगे या हमारी संपादकीय टीम से संपर्क करना चाहेंगे?

0
ग्लोबल फैक्ट चेक पूरा हुआ

हमारे जीवन पर असर डालने वाले फैसलों के लिए हम सूचना पर भरोसा करते हैं, लेकिन इंटरनेट के जरिए ग़लत सूचनाएं इतनी तेजी से लोगों तक पहुंचाई जा रही है जैसा पहले कभी नहीं हुआ था.